Thursday, October 15News That Matters
Shadow

रूस ने लॉन्च की दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन, राष्ट्रपति पुतिन की बेटी को लगा टीका

Coronavirus vaccine
शेयर करें !

देहरादून: दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर बरप रहा है। भारत, अमेरिका समेत दुनिया के कई देश इस वायरस की वैक्‍सीन बनाने में जुटे हैं। इस बीच रूस ने पूरी दुनिया को पीछे छोड़ते हुए सबसे पहले बाजी मार ली है। दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन (Coronavirus vaccine) अप्रूव हो गई है। रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने मंगलवार को यह ऐलान किया।

रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने कहा कि, रूस में बनी पहली कोविड-19 वैक्‍सीन को हेल्‍थ मिनिस्‍ट्री से अप्रूवल मिल गया है। पुतिन ने यह भी बताया कि उनकी बेटियों को यह टीका लगाया जा चुका है। उन्होंने  कहा, “इस सुबह दुनिया में पहली बार, नए कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्‍सीन रजिस्‍टर्ड हुई।” उन्‍होंने उन सभी को धन्‍यवाद दिया जिन्‍होंने इस वैक्‍सीन पर काम किया है। पुतिन ने कहा कि वैक्‍सीन सारे जरूरी टेस्‍ट से गुजरी है। अब यह वैक्‍सीन बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए भेजी जाएगी।

मॉस्‍को के गामलेया रिसर्च इंस्टिट्यूट ने एडेनोवायरस को बेस बनाकर यह वैक्‍सीन तैयार की है। रिसर्चर्स का दावा है कि वैक्‍सीन में जो पार्टिकल्‍स यूज हुए हैं, वे खुद को रेप्लिकेट (कॉपी) नहीं कर सकते। रिसर्च और मैनुफैक्‍चरिंग में शामिल कई लोगों ने खुद को इस वैक्‍सीन की डोज दी है।

रूस ने दुनियाभर में वैक्‍सीन सप्‍लाई करने की बात तो कही है मगर कई देश अभी इसे लेकर हिचक रहे हैं। पश्चिमी देशों समेत वर्ल्‍ड हेल्‍थ ऑर्गनाइजेशन ने चिंता जताई है कि बिना पर्याप्‍त डेटा के वैक्‍सीन सप्‍लाई करना ठीक नहीं होगा। यूनाइटेड किंगडम ने साफ कहा है कि वह अपने नागरिकों को रूसी वैक्‍सीन की डोज नहीं देगा। ऐसे में हो सकता है कि शुरुआती दौर में वैक्‍सीन दूसरे देशों को न भेजी जाए। रूस की आम जनता पर वैक्‍सीन का असर देखने के बाद बाकी देश इसपर कोई फैसला कर सकते हैं।

लाइव उत्तराखंड से यूट्यूब पर जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें

शेयर करें !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *