ब्लू व्हेल

ब्लू व्हेल गेम चैलेंज में अब तक 130 ने दी जान

ब्लू व्हेल गेम चैलेंज एक ऐसा खतरनाक गेम है जो कि पूरी दुनिया में आज कल के लगभग 130 से ज्यादा नौजवानों(teenagers) की जिन्दगी को समाप्त कर चुका है।

यह भी पढ़े : ‘ब्लू व्हेल’ के बहाने जान ले रही थी ये लड़की, मॉस्को से अरेस्ट

यह एक ऐसा ऑनलाईन खेलने वाला गेम है जो कि किसी भी व्यक्ति को दुनिया से छुटकारा दिलाता है जो कि ये सोचते हैं कि वे जीने के लायक नहीं हैं। व्यक्ति के जीवन में किशोरावस्था सबसे संवेदनशील चरण है। ब्लू व्हेल गेम चैलेंज, विशेष रूप से उन्हें अतिसंवेदनशील बना देता है।
अपने स्वयं के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों जैसे मोबाईल फोन, टैब, कम्प्यूटर आदि इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में अधिक समय व्यतित करना, स्कूल जाने या किसी काम को करने से बचना, व्यवहार में बदलाव होना (क्रोध/उदासी/रोना), अपने दोस्तों के साथ कम समय व्यतीत करना, त्वचा पर ताजे निशान या गर्मी में इन घाव/अंकों को छिपाने वाले कपड़े पहने हुए, ये कुछ ऐसे लक्षण हैं जो एक माता-पिता,देखभालकर्ता, मित्र या परिवार के सदस्य की सहायता से इस गेम को खेलने के आदी व्यक्ति विशेष की पहचान करने में मदद कर सकते हैं।
माता-पिता, शिक्षकों और देखभाल करने वालों को यह समझना चाहिए कि एक बार हम इन मुद्दों को कम करने के लिए हमें असल दुनिया में उनकी सहायता करनी होगी तथा इन सभी अपराधों से निपटने के बारे में जागरूकता फैलाने और खुद को और हमारे प्रियजनों को बचाने के लिए हमें एक और सक्रिय भूमिका निभानी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *