Thursday, October 22News That Matters
Shadow

पूर्व सीएम हरीश रावत विकास कार्य देखने जायेंगे गैरसैंण, बोले- देहरादून में बैठकर राजधानी नहीं चलती

harish rawat
शेयर करें !

देहरादून: उत्तराखंड में गैरसैंण (भराड़ीसैण) के मुद्दे पर एक बार फिर सियासत शुरू हो गई है। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत (Harish Rawat) गैरसैंण में त्रिवेंद्र सरकार द्वारा किए गए विकास कार्यों को देखने के लिए 9 अगस्त को गैरसैंण जाएंगे।

बता दें कि, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मार्च में गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किया था। इसके बाद राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने भी भराड़ीसैण (गैरसैंण) को उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन  राजधानी घोषित करने की स्वीकृति प्रदान कर दी थी।

हरीश रावत (Harish Rawat) ने कहा कि, ग्रीष्मकाल 15 सितंबर तक रहेगा‌। समय आ गया है, 15 अगस्त से पहले गैरसैंण जाकर ग्रीष्मकालीन सरकार के दर्शन व उसके कामकाज का आंकलन कर लिया जाय। मैं इस पुण्य कार्य को पूरा करने के लिये 9 अगस्त को गैरसैंण जाऊंगा।

ये भी पढ़ें: एम्स ऋषिकेश में फिर नर्सिंग ऑफिसर समेत 13 लोग कोरोना संक्रमित

पूर्व सीएम हरीश रावत (Harish Rawat) ने प्रदेश सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि, देहरादून में बैठकर राजधानी नहीं चला सकते, राजधानी चलानी है तो पहाड़ चढ़ना पड़ेगा।

इसके अलावा उन्होंने कहा कि, “क्यों गैरसैंण! क्योंकि गैरसैंण रोजगार व व्यवसाय के नये क्षेत्र खोलता है, पहले से विकसित क्षेत्र में नई संभावनाएं सूख रही हैं‌। गैरसैंण की ओर बढ़ते कदम, नये रोजगार के संकल्प क्षेत्र दिखाता है, इस संकल्प को दोहराने मैं 9 अगस्त को गैरसैंण जाऊंगा।“

harish rawat

लाइव उत्तराखंड से यूट्यूब पर जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें

शेयर करें !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *