पंच केदारों में सबसे कठिन और मनमोहक यात्रा है द्वितीय केदार मध्यमहेश्वर की

मार्कंडेय गंगा व मध्यमहेश्वर के जल विभाजक के पूर्वी ढ़लान पर बाबा मध्यमहेश्वर का भव्य मंदिर स्थित है, जो कि प्राकृतिक सुंदरता के दृष्टिकोण से पंच केदारों में सर्वाधिक आकर्षक है। मंदिर शिखर स्वर्ण कलश से अलंकृत है। मंदिर के…

चतुर्थ केदार रुद्रनाथ मंदिर के कपाट शीतकाल के लिए बंद

चतुर्थ केदार भगवान रुद्रनाथ के मंदिर के कपाट मंगलवार को विधि विधान से शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए हैं। साढ़े 11 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित रुद्रनाथ मंदिर में भगवान शिव के मुखारबिंद के दर्शन होते हैं।…

देखिये दुनिया में सबसे ऊंचाई पर बने प्राचीन भव्य शिव मंदिर एवं चल विग्रह डोली को।

तुंगनाथ उत्तराखण्ड के गढ़वाल के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित एक प्राचीन भव्य शिव मंदिर है जो ३,६८० मीटर की ऊँचाई पर बना हुआ है और पंच केदारों में सबसे ऊँचाई पर स्थित है। यहाँ पर शिव के हृदय और उनकी…

जानिए हिमालय में भोटिया प्रजाति के कुत्ते के बारे में, जिसके सामने बाघ भी नहीं टिक पाते।

गंभीर स्वभाव के वफादार भोटिया प्रजाति के कुत्ते, अनावश्यक भौं-भौं या कुं-कूं किए बिना पहाड़ पर रात के सजग-समझदार व बहादुर प्रहरी हैं. ये अकेले ही बाघ से टक्कर लेने की हिम्मत रखते हैं और अगर दो हों तो बाघ…

देखिये हिमालय के माध्महेस्वर घाटी के गोंडार गॉव में हिमालय की सांस्कृतिक धरोहर – बाबा भैरवनाथ नृत्य।

हिमालय की जीवनशैली में देवताओं का बड़ा महत्व है, देवता उनके हर सुख दुःख में भागिदार हैं।  पहाड़ी देवधुनो पर देवता अवतरित होकर नाचते हैं। देखिये हिमालय के माध्महेस्वर घाटी के गोंडार गॉव में हिमालय की सांस्कृतिक धरोहर – बाबा …

आदि वीरशैवों का वैराग्यपीठ उखीमठ।

आदि गुरु शंकराचार्य से पहले भारत में कई मत थे। जैसे शैव, वैष्णव, शाक्य, गाणपत्य। इनके अंतर्गत भी कई मत थे जैसे कालमुख शैव, कापालिक शैव, कश्मीरी शैव, वीरशैव इत्यादि। शंकराचार्य जी ने सभी मतों को एक किया। इन मतों…

पूजा-अर्चना के साथ हुआ तीज महोत्सव का आगाज

अल्मोड़ा: नगर के अग्रवाल सभा ने विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी रविवार को तीज महोत्सव का आयोजन किया गया। लिंक मार्ग स्थित विनायक उत्सव हॉल में तीज महोत्सव की शुरूआत भगवान शिव से अपने सुहाग की दीर्घ जीवन…

Alaknanda is considered the source stream of the Ganges on account of its greater length and discharge

The Alaknanda is a Himalayan river in the Indian state of Uttarakhand and one of the two headstreams of the Ganga, the major river of Northern India and the holy river of Hinduism. In hydrology, the Alaknanda is considered the source stream of the Ganges on account of its greater length and discharge;  however,…