Saturday, April 17News That Matters
Shadow

कुमाऊं

उत्तराखंड के नाराज भाजपा विधायक राष्ट्रीय अध्यक्ष से मिले, सिसासी हलकों में कई अटकलें तेज

उत्तराखंड के नाराज भाजपा विधायक राष्ट्रीय अध्यक्ष से मिले, सिसासी हलकों में कई अटकलें तेज

उत्तराखंड, कुमाऊं
देहरादून: प्रदेश में मंत्रीमंडल विस्तार की चर्चाओं के बीच भाजपा के विधायक की राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से दिल्ली में मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे हैं। नौकरशाही से नाराज चल रहे भाजपा के विधायक बिशन सिंह चुफाल बुधवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिले। इस दौरान उन्होंने प्रदेश के मौजूदा सिसासी हालात पर चर्चा करने के साथ ही सीमांत में संचार, सड़क व हवाई सेवाओं को विकसित करने का मुद्​दा भी उठाया। उनकी इस मुलाकात को लेकर राज्य के सिसासी हलकों में भी तमाम तरह की अटकलें लगने लगी हैं। बता दें कि भाजपा विधायक लंबे समय से नौकरशाही से परेशान हैं। इसे लेकर वह मुखरता से अपनी बात उठा चुके हैं। इसे लेकर वह कई दिनों से सुर्खियों में हैं। एक सितंबर को वह दिल्ली के लिए रवाना हुए थे। बुधवार को दिल्ली में उनकी मुलाकात भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से हुई। मीडिया रिपोर्ट्स के मु...
उत्तराखंड: जवान कुंदन राम को सैन्य सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई

उत्तराखंड: जवान कुंदन राम को सैन्य सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई

उत्तराखंड, कुमाऊं
अल्मोड़ा: उत्तराखंड के लिए एक और बुरी खबर है।  देश की रक्षा करते हुए उत्तराखंड के एक और लाल ने शहादत दी है। अल्मोड़ा के ग्राम सिरोली निवासी बीएसएफ जवान कुंदन राम का बबलेश्वर श्मशानघाट पर राजकीय सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। दिल्ली से आए बीएसएफ के जवानों ने उन्हें अंतिम सलामी दी। इस दौरान उनके पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। जवान कुंदन राम जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा में तैनात थे। सेना के वाहन से रविवार को सुबह करीब चार बजे चौखुटिया होते हुए सुबह सात बजे उनका पार्थिव शरीर पैत्रिक गांव सिरोली ले जाया गया। शहीद पति के पार्थिव शरीर को देखते ही पत्नी सुनीता और बेटे हरीश सहित सभी परिजन बदहवास हो गए। शहीद के सिरोली गांव से भारत माता की जय, कुंदन अमर रहे और वंदे मातरम की गूंज के साथ अंतिम यात्रा शुरू हुई। इसके बाद श्मशानघाट पर उनके बेटे हरीश ने शहीद पिता की चिता को...
अनियंत्रित होकर खाई में गिरा वाहन, चालक गंभीर घायल, 02 अन्य भी घायल

अनियंत्रित होकर खाई में गिरा वाहन, चालक गंभीर घायल, 02 अन्य भी घायल

उत्तराखंड, कुमाऊं
रानीखेत: आज शनिवार को हल्द्वानी से अल्मोड़ा (Almora) जा रही टाटा सूमो खाई में पलट गई। यह हादसा रामगढ़ ब्‍लॉक के सतखोल के समीप हुआ, जहां असंतुलित होकर वाहन करीब सौ मीटर नीचे खाई में जा गिरा। हादसे के बाद चौकी पुलिस क्वारब ने निजी वाहन से गंभीर रुप से घायल चालक को बेस अस्पताल अल्मोडा़ भिजवाया। जहां वाहन चालक की हालत नाजुक बताई जा रही है। हल्द्वानी से अल्मोड़ा (Almora) जा रहा था वाहन जानकारी के मुताबिक, वाहन चालक अल्मोड़ा (Almora) निवासी अर्जुन रावत शनिवार को हल्द्वानी से वाहन मालिक दीपक व एक अन्य यात्री मुकेश पांडे को लेकर अल्मोड़ा (Almora) की ओर रवाना हुआ। दुर्घटनाग्रस्त टाटा सूमो का वाहन संख्या यूके 01 टीए 1205 है। वाहन चालक भवाली से मोना क्वारब मार्ग से होते हुए अल्मोड़ा के लिए निकला था। इसी दौरान सतखोल के समीप वाहन अनियंत्रित होकर खाई में जा गिरा। चालक गंभीर घायल, अन्य लोग मामूली ...
उत्तराखंड के इस क्षेत्र में शनिवार और रविवार को पूर्ण लॉकडाउन लागू

उत्तराखंड के इस क्षेत्र में शनिवार और रविवार को पूर्ण लॉकडाउन लागू

उत्तराखंड, कुमाऊं
खटीमा: उत्तराखंड के सबसे अधिक कोरोना प्रभावित चार जिलों देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर में साप्ताहिक लॉकडाउन में छूट दी गई है। वहीं  अब केवल ऊधमसिंह नगर जिले के खटीमा ब्लॉक में जिला प्रशासन ने दो दिन शनिवार 08 और रविवार  09 अगस्त को पूर्ण रूप से लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया है। जिले के खटीमा को छोड़कर अन्य हिस्से लॉकडाउन से मुक्त रहेंगे। ऊधमसिंह नगर जिले के खटीमा में लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते दो दिन का लॉकडाउन लागू किया गया। इसके लिए स्थानीय लोगों, व्यापारियों और जनप्रतिनिधियों ने भी एहतियातन लॉकडाउन का अनुरोध किया था। बता दें कि, उत्तराखंड में अब तक कुल कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 8,901 तक जा पहुंचा है। इनमे से 5,731 ठीक हो चुके हैं। जबकि, 112 लोगों की मौत हो चुकी है। 38 कोरोना संक्रमित प्रदेश से बाहर जा चुके हैं। अब 3020 संक्रमित हैं, जिनका उपचार किया जा रहा ...
चमोली और पिथौरागढ़ में फिर बरसी आसमानी आफत, घर मलबे में दफन, एक की मौत!

चमोली और पिथौरागढ़ में फिर बरसी आसमानी आफत, घर मलबे में दफन, एक की मौत!

उत्तराखंड, कुमाऊं, गढ़वाल
उत्तराखंड : पिथौरागढ़ जिले में मुनस्यारी और बंगापानी क्षेत्र में मौसम का रौद्र रूप लोगों को डरा रहा है। बंगापानी में कुछ दिन पहले ही पूरा गांव ही दफन हो गया। अब तक 12 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। सोमवार देर रात को फिर से बादलों का कहर बरपा। चमोली में भी सोमवार रात और हुई भारी बारिश ने पूरा गांव की बर्बाद कर दिया। गनीमत रही कि लोगों ने समय रहते अपनी जान बचा ली। यहां कई घर मलबे में दफन हो गए हैं। बीआरओ का पुल टूट गया है। कई घरों में बरसात का पानी घुस गया है। जीबली गांव में एक महिला लापता बताई जा रही है। चमोली जिले में सोमवार तड़के बादलों ने खूब कहर मचाया है। यहां एक महिला की मौत हो गई है और एक बच्ची घायल है। इसके अलावा मवेशियों को भी नुकसान पहुुंचा है। धारचूला मुनस्यारी में बारिश ने तबाही मचाई है। यहां बीआरओ का पुल बह गया है। 100 से अधिक गावों का मुख्यालय से संपर्क कट गया है। जराजीबली, गल...
उत्तराखंड: अलगे 3 दिन इन जिलों पर फिर पड़ सकते भारी, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

उत्तराखंड: अलगे 3 दिन इन जिलों पर फिर पड़ सकते भारी, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

उत्तराखंड, कुमाऊं, गढ़वाल
weather alert uttarakhand.. देहरादून: मानसून पूरे उत्तराखंड में कहर बरपा रहा है। मैदानों से लेकर पहाड़ों तक मूसलाधार बारिश ने तांडव मचाया हुआ है। भारी बारिश के चलते कई जगह मार्ग बंद पड़े हैं, तो कई जगहों पर भू-स्ख्लन से तबाही मची है। इससे लोगों को जान माल का काफी नुक्सान हो रहा है। ऐसे में मौसम विभाग ने अगले सात दिन प्रदेशभर में भारी बारिश का अलर्ट जारी कर लोगों की मुश्किलों को बढ़ा दिया है। साथ ही लोगों को सतर्क रहने को कहा है। वहीं ही प्रशासन को भी अलर्ट कर दिया गया है। ये भी पढ़ें: उत्तराखंड: बेरोजगार युवाओं के लिए खुशखबरी, 300 पदों पर मांगे गये आवेदन Weather alert uttarakhand: भू-स्खलन से कई सड़क मार्ग बंद उत्तराखंड में लगातार आसमानी कहर बरस रहा है, जिससे लोगों भारी नुक्सान को उठाना पड़ रहा है। बात पहाड़ों की करें तो यहां जगह-जगह भू-स्ख्लन हो रहा है, जिससे राष्ट्रीय राजमार्ग सहित कई स...
पिथौरागढ़ में फिर बरपा कहर, रात को घर जमींदोज, सुबह ग्रामीणों ने देखा खौफनाक मंजर

पिथौरागढ़ में फिर बरपा कहर, रात को घर जमींदोज, सुबह ग्रामीणों ने देखा खौफनाक मंजर

उत्तराखंड, कुमाऊं
पिथौरागढ़ (Live Uttarakhand): उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार बारिश का कहर बरप रहा है। प्रदेश के सीमान्त जिले पिथौरागढ़ (Pithoragarh) में एक हफ्ते पहले बारिश से हुई भारी तबाही के मंजर से लोग अभी उभरे भी नहीं थे कि, एक बार फिर जिले में बारिश का कहर बरपा है। पिथौरागढ़ (Pithoragarh) जिले में बंगापानी तहसील के धामी गांव के भ्यौला तोक में भूस्खलन से एक घर मलबे में दब गया। इस हादसे में परिवार के दो सदस्य समेत मवेशी भी लापता हैं। रात को घर दफन, सुबह चला पता यह हादसा रविवार रात भारी वर्षा के चलते हुआ। हादसे की जानकारी ग्रामीणों को सुबह मिली। जब गांव वालों ने देखा कि, घर की जगह पर मलबा पसरा हुआ है। इसके बाद ग्रामीण राहत बचाव कार्य में जुटे। साथ ही प्रशासन की टीम भी मौके के लिए रवाना हुए। सुबह मलबे में दबी महिला वहीं पिथौरागढ़ जिले के ही तहसील तेजम ग्राम गोठी में आज सुबह एक महिला नाले ...
Kargil Vijay Diwas: उत्तराखंड के 75 वीर सपूतों ने दी थी शहादत, वीरता पदकों से सम्मानित

Kargil Vijay Diwas: उत्तराखंड के 75 वीर सपूतों ने दी थी शहादत, वीरता पदकों से सम्मानित

उत्तराखंड, कुमाऊं, गढ़वाल
Kargil Vijay Diwas.. देहरादून (Live Uttarakhand): 26 जुलाई यानी आज के दिन हर साल की तरह इस साल भी “कारगिल विजय दिवस” (Kargil Vijay Diwas) मनाया जा रहा है। आज से 21 साल पहले 26 जुलाई 1999 के दिन भारत ने कारगिल युद्ध में पकिस्तान को धूल चटा दी थी। इस युद्ध में देश के लिए जान न्योछावर करने वाले वीर सैनिकों के सम्मान में हर साल इस दिन को शौर्य दिवस (Kargil Vijay Diwas) के रूप में मनाया जाता है। इस युद्ध में देशभर के सैनिकों ने शहादत दी, लेकिन उत्तराखंड के सपूतों के बिना कारगिल की वीरगाथा अधूरी है। उत्तराखंड को वीरों की भूमि यूं ही नहीं कहा जाता। यहां के तो लोकगीतों में भी शूरवीरों की वीर गाथाओं का जिक्र मिलता है। देश पर कुर्बान होने वाले जांबाजों में उत्तराखंड के वीरों का कोई सानी नहीं हैं। आज भी उत्तराखंड के हर युवा का सपना देश की सेना में जाना ही है। यही वजह है कि जब भी जवानों की शहादत को ...