कोलकाता टेस्ट ड्रॉ, आखिर तक मैच में बना रहा रोमांच

टीम इंडिया और श्रीलंका के बीच 3 मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला कोलकाता के ऐतिहासिक ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेला गया जो ड्रॉ पर खत्म हुआ. भारत की पहली पारी के 172 रनों के जवाब में श्रीलंका ने 294 रन बनाकर 122 रनों की बढ़त हासिल की थी. इसके बाद दूसरी पारी में बल्लेबाजी के लिए उतरी टीम इंडिया ने 8 विकेट गंवा कर 352 रन बनाए और श्रीलंका को जीत के लिए 231 रन का लक्ष्य दिया. 231 के लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रीलंका की टीम ने 75 रन पर 7 विकेट गंवा दिए थे और टीम इंडिया को मैच जीतने के लिए 3 विकेट हासिल करने थे, लेकिन मैच को ड्रॉ घोषित कर दिया गया.

पहली पारी में शून्य पर आउट होने के बाद कप्तान विराट कोहली (नाबाद 104) ने दूसरी पारी में शानदार शतक लगाया. यह कोहली का 18वां टेस्ट शतक था. खराब रोशनी के कारण खेल समय से पहले समाप्त कर दिया गया, नहीं तो परिणाम भारत के पक्ष में जा सकता था. भारत के लिए इस पारी में भुवनेश्वर कुमार ने सबसे ज्यादा 4 विकेट लिए, वहीं मोहम्मद शमी को 2 और उमेश यादव को एक सफलता हासिल हुई. दिलचस्प बात यह रही कि इस मैच में श्रीलंका ने सभी 17 विकेट तेज गेंदबाजों ने लिए. भुवनेश्वर कुमार ने मैच में सबसे ज्यादा 8 विकेट, वहीं मोहम्मद शमी ने 6 तो उमेश यादव ने 3 विकेट झटके.

दूसरी पारी में बल्लेबाजी के लिए उतरी टीम इंडिया को पहला झटका शिखर धवन के रूप में लगा. उन्हें दासुन शनाका ने विकेट के पीछे निरोशन डिकवेला के हाथों कैच कराया. शिखर धवन 94 रन बनाकर आउट हुए. धवन पांच रनों से शतक के चूक गए. उन्होंने 116 गेंदें खेलीं और 11 चौकें के साथ दो छक्के भी लगाए. टीम इंडिया ने दूसरा विकेट लोकेश राहुल (79) के रूप में गंवाया. उन्हें सुरंगा लकमल ने बोल्ड कर पवेलियन भेजा.

राहुल के आउट होने के बाद चेतेश्वर पुजारा (22) भी ज्यादा देर तक मैदान पर नहीं टिक पाए और 213 के स्कोर पर लकमल की ही गेंद पर परेरा के हाथों कैच आउट हो गए. इसी स्कोर पर लकमल ने अंजिक्य रहाणे को भी एलबीडब्लू आउट कर पवेलियन का रास्ता दिखाया. रहाणे खाता भी नहीं खोल पाए थे.

रहाणे के आउट होने के बाद टीम की पारी संभालने आए कोहली ने रवींद्र जड़ेजा (9) के साथ 36 रनों की साझेदारी कर टीम को 249 के स्कोर तक पहुंचाया था, लेकिन परेरा ने थिरिमाने के हाथों जडेजा को कैच आउट कर मेजबान टीम का पांचवां विकेट गिराया. शनाका ने अश्विन को बोल्ड कर टीम इंडिया को छठा झटका दिया. 7वें विकेट के रूप में साहा 5 रन के निजी स्कोर पर आउट हुए, वहीं आठवें विकेट के रूप में भुवनेश्वर कुमार पवेलियन लौटे थे.

श्रीलंका ने पहली पारी में बनाए 294 रन

रंगना हेराथ (67) की अर्धशतकीय पारी के दम पर श्रीलंका ने अपनी पहली पारी में 294 रन बनाए हैं. इस पारी के आधार पर श्रीलंका ने भारत के खिलाफ 122 रनों की बढ़त ले ली है. हेराथ ने अपनी पारी में 105 गेंदों में नौ चौके लगाए. हेराथ के अलावा लाहिरू थिरिमाने ने 51 रन तो वहीं एंजेलो मैथ्यूज ने 52 रनों की पारी खेली. भारत के लिए इस पारी में शमी और भुवनेश्वर ने चार-चार विकेट लिए, वहीं उमेश यादव को दो सफलता हासिल हुई.

पहली पारी में श्रीलंका के विकेट्स

पहली पारी में बल्लेबाजी के लिए उतरी श्रीलंका की टीम ने करुणारत्ने (8) के रूप में पहला विकेट गंवा दिया था, जब 29 रन के स्कोर पर भुवनेश्वर कुमार ने उन्हें एलबीडब्लू कर दिया था. दूसरा विकेट 6.4 ओवर में लगा जब सदीरा समरविक्रमा (23) को भुवनेश्वर की गेंद पर ऋद्धिमान साहा ने कैच कर लिया.

36.2 ओवर में 133 के स्कोर पर श्रीलंका का तीसरा विकेट गिरा. जब उमेश यादव की गेंद पर थिरिमाने (51) को स्लिप में विराट ने कैच कर लिया. 38.5 ओवर में उमेश ने चौथा झटका भी दे दिया. जब उनकी गेंद पर एंजेलो मैथ्यूज (52) को लोकेश राहुल ने कैच करके वापस भेज दिया.

मैच के चौथे दिन मेहमान टीम ने 4 विकेट पर 165 रन से आगे खेलना शुरू किया और 52.4 ओवर में स्कोर को 200 रन तक पहुंचाया, लेकिन अगली कुछ देर में 10 गेंद के दौरान तीन विकेट जल्दी-जल्दी गिर गए. 52.5 ओवर में मोहम्मद शमी ने निरोशन डिकवेला (35) को आउट करते हुए श्रीलंका को पांचवां झटका दिया. इसके बाद दासुन शनाका (0) को भुवनेश्वर कुमार ने एलबीडब्लू कर छठा विकेट गिराया.

सातवें विकेट के रूप में दिनेश चांडीमल आउट हुए. शमी की गेंद पर विकेट के पीछे साहा ने उन्हें कैच कर लिया. शमी ने 68.6 ओवर में परेरा (5) को आउट करके श्रीलंका को आठवां झटका दिया. रंगना हेराथ (67) को आउट कर भुवनेश्वर ने श्रीलंका को नौवां झटका दिया. आखिरी विकेट सुरंगा लकमल (16) का रहा. जिन्हें शमी ने बोल्ड कर दिया.

टीम इंडिया की पहली पारी 172 रनों पर सिमटी

इससे पहले टॉस हारकर अपनी पहली पारी में टीम इंडिया 59.3 ओवर में 172 रन पर ढेर हो गई थी. टीम इंडिया की तरफ से चेतेश्वर पुजारा ने सबसे ज्यादा 52 रन, ऋद्धिमान साहा ने 29, मोहम्मद शमी ने 24 जबकि रविंद्र जडेजा ने 22 रन बनाए. वहीं, श्रीलंका की ओर से सुरंगा लकमल ने 4 विकेट झटके. पुजारा के अलावा टीम इंडिया के बाकी सभी बल्लेबाज संघर्ष करते हुए नजर आए.

पुजारा ने साहा के साथ 26 रनों की साझेदारी की. उनकी विदाई के बाद रवींद्र जडेजा विकेट पर आए और उन्होंने साहा का अच्छा साथ दिया. इन दोनों ने भारत के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया. जडेजा 127 के स्कोर पर दिलरुवान परेरा की गेंद पर एलबीडब्लू आउट करार दिए गए. अंपायर ने हालांकि जडेजा को नाटआउट करार दिया था लेकिन श्रीलंका टीम द्वारा रिव्यू लिए जाने के बाद उन्हें आउट करार दिया गया.

जडेजा ने 22 रन बनाए. उन्होंने 37 गेंदों का सामना कर तीन चौके और एक छक्का लगाया. 127 के स्कोर पर साहा भी आउट हो गए. साहा का भी विकेट परेरा ने लिया. दोनों विकेट 52वें ओवर में गिरे. साहा ने अंपायर के फैसले के खिलाफ डीआरएस लिया था लेकिन टीवी अंपायर विल्सन ने उसे नकार दिया.साहा ने 83 गेंदों का सामना कर छह चौकों की मदद से 29 रन बनाए.

भुवनेश्वर कुमार (13) का विकेट 146 के स्कोर पर गिरा. भुवी ने 17 गेंदों का सामना कर एक चौका लगाया. भुवी को सुरंगा लकमल ने आउट किया. इसके बाद उमेश यादव (6) और मोहम्मद शमी (24) ने मिलकर स्कोर को 150 तक पहुंचाया. दोनों ने कई जोरदार शॉट्स लगाए.

खासतौर पर शमी ने ताबड़तोड़ अंदाज में खेलते हुए तीन झन्नाटेदार चौके जड़े. शमी ने 22 गेंदों का सामना किया. शमी और यादव ने अंतिम विकेट के लिए 19 गेंदों पर 26 रन जोड़े. श्रीलंका की ओर से लकमल ने सबसे अधिक चार विकेट लिए जबकि परेरा, शनाका और गामागे को दो-दो सफलता मिली.

पहली पारी में टीम इंडिया के विकेट्स

टीम इंडिया को पहला झटका मैच की पहली ही गेंद पर लगा जब लोकेश राहुल सुरंगा लकमल की बाहर जाती गेंद पर विकेटकीपर डिकवेला को कैच दे बैठे. राहुल 0 पर आउट हुए. साथ ही लगातार आठ पारियों में 50+ स्कोर बनाने के वर्ल्ड रिकॉर्ड से भी चूक गए.

राहुल को आउट करने के बाद लकमल ने शिखर धवन को बोल्ड कर टीम को दूसरा झटका दिया. बाहर जाती गेंद पर कवर ड्राइव लगाने की कोशिश में धवन गेंद को विकेट पर खेल गए. धवन ने 8 रन बनाए. इसके बाद कप्तान कोहली के रूप में टीम इंडिया को तीसरा झटका लगा, जब सुरंगा लकमल की गेंद पर वे एलबीडब्लू आउट हो गए थे.

दूसरे दिन भी टीम इंडिया की शुरुआत खराब रही और 18वें ओवर में उपकप्तान अजिंक्य रहाणे दासुन शनाका की गेंद पर विकेट के पीछे डिकवेला के हाथों लपके गए. रहाणे 4 रन बनाकर आउट हुए. नंबर 6 पर बल्लेबाजी करने के लिए आए रविचंद्रन अश्विन भी कुछ खास नहीं कर पाए और शनाका की गेंद पर दिमुथ करुणारत्ने को कैच देकर पवेलियन लौट गए. अश्विन भी 4 रन बनाकर आउट हुए.

तीसरे दिन पुजारा आउट होने वाले पहले बैट्समैन रहे. 37.2 ओवर में लाहिरू गमागे ने उन्हें बोल्ड कर दिया. इसके बाद रवींद्र जडेजा (22) आउट हुए. 51.2 ओवर में दिलरुवान परेरा ने उन्हें एलबीडब्लू करते हुए भारत का सातवां विकेट गिराया. आठवां विकेट ऋद्धिमान साहा (29) का रहा. जो 51.5 ओवर में दिलरुवान परेरा की गेंद पर एंजेलो मैथ्यूज को कैच देकर आउट हो गए. नौवें विकेट के रूप में भुवनेश्वर कुमार (13) आउट हुए. जो सुरंगा लकमल की गेंद पर निरोशन डिकवेला को कैच देकर आउट हो गए. आखिरी विकेट मोहम्मद शमी (24) का रहा जो लाहिरू गमागे की गेंद पर शनाका को कैच देकर आउट हुए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *