कोटद्वार में फिर से बवाल, अब लड़की भगाने की घटना ने पकड़ा तूल आरोपी दूसरे समुदाय का।

गढ़वाल की शांत वादियों में पिछले कुछ समय से अपराध लगातार बढ़ रहे है। यही नही जनपद मुख्यालय पौड़ी के साथ ही सतपुली, कोटद्वार व लैंसडौन में भी हालही में छोटे मोटे साम्प्रदायिक झगड़े होते दिखे। ये सभी आरोपी गैर उत्तराखण्डी और गैर हिन्दू होने के कारण लोगो का गुस्सा सातवें आसमान पे था। कि आखिर क्यो बाहर से आकर बसे लोग यहां का माहौल खराब कर रहे है। इसी के चलते पुलिस ने भी बाहरी व्यक्तियों के सत्यापन पर जोर देना शुरू कर दिया था कि इसी बीच आज एक बार फिर लड़की भगाने की खबर पर कुछ धार्मिक संगठनों के कार्यकर्ताओं ने कुछ गैर हिन्दू लोगो को निशाना बनाया साथ ही लाठी-डंडों से पीटा यही नही दुकानों में भी तोड़फोड़ की। इस बारे में चर्चा ये भी है कि जिन लोगों के साथ मारपीट हुई, उनका इस घटना से लेना-देना तो नहीं है हा पर एक ही समुदाय के होने के कारण इन लोगो को निशाना बनाया गया। जिसके भविष्य में इस बात का सबक लेकर फिर कोई ऐसी हरकत न करे।


जानकारी के अनुसार एक युवक का दूसरे धर्म की युवती से प्रेम प्रसंग था। लड़के पर आरोप है कि वह कुछ दिन पहले लड़की को भला फुसलाकर भगाकर ले गया था। इसकी सूचना जब कुछ धार्मिक संगठनों के लोगो को लगी तो उन्होंने वर्ग विशेष के लोगों को निशाना बनाया। लाठी-डंडों से लेस ये लोग उनकी दुकानों में पहुंचे और मारपीट करने लगे साथ ही दुकानों में तोड़फोड़ भी की गई। जब तक पुलिस पहुंचती तक तब ये लोग वहां से गायब हो चुके थे।

लेकिन एक सच ये भी है कि जनपद पौड़ी और हरिद्वार में पिछले कुछ दिनों में हुई घटनाओं से सबक लेने के बाद भी यदि कोई इस तरह की हरकत करता है तो अपराध को लेकर उसके हौसले कितने बुलंद होंगे। इस संबंध में युवती की माँ ने अपनी रिपोर्ट में दो ठेकेदारों इमरान एवं अकबर पर पुत्री को गायब करने की साजिश रचकर सरफराज के साथ भगाने का आरोप लगाया है। रिपोर्ट में लापता युवती की मां ने यह भी कहा है कि कुछ ही माह बाद हमारी लापता बेटी की शादी होनी थी लेकिन उसके गायब होने से सारा परिवार दुखी एंव परेशान है। महिला ने अपनी पुत्री को एक सोची समझी साजिश के तहत गायब करने का आरोप भी लगाया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *