Wednesday, October 28News That Matters
Shadow

षड्यंत्र के तहत मुझे जबरन फंसाये जाने की हो रही साजिश: सचिन उपाध्याय

Sachin Upadhyay
शेयर करें !

देहरादून: बीते दिन सचिन उपाध्याय पर लगे आरोपों को उन्होंने निराधार बताया है। उन्होंने यह आरोप किसी षड्यंत्र के तहत जबरन फंसाये जाने के साजिश बताया है। दरअसल, उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष और वरिष्ठ नेता किशोर उपाध्याय के भाई सचिन उपाध्याय पर हरियाणा निवासी व्यक्ति ने धोखाधड़ी का आरोप लगाया है।

मामले के अनुसार, उक्त व्यक्ति ने शीशमबाड़ा में 38,000 मीटर में प्लॉट खरीदने के संबंध में नॉट बुक कराये जाने दावा करने साथ ही सचिन उपाध्याय पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। वहीं सचिन उपाध्याय ने कहा कि, उक्त मामले में धोखाधड़ी जैसा कुछ है ही नहीं। उन्होंने बाताया, कि प्रमोद बडोनी निवासी पीवीके पालम विहार गुड़गांव हरियाणा ने 2011 में शीशमबाड़ा आवासीय भूमि 120 गज में प्लॉट बुक किया, 2012 में सबकी रजिस्ट्री पजेशन हो चुका है, उन्होंने इसकी प्रति भी मीडिया को उपलब्ध कराई है। उन्होंने कहा कि, इसके बाद शीशम बाढ़े का कूड़ा दान (टिंचर ग्राउंड) आने के बाद से उक्त व्यक्ति द्वारा इस सौदे को रद्द करने की बात कही गई, जो कि सम्भव नहीं था।

उन्होंने कहा कि, इसके बाद से ही मुझ पर उक्त व्यक्ति द्वारा पैसा वापस करने के लिए जबरन दबाव बनाया जा रहा था, जिसके बाद मुझे झूठे केस में फंसाने की धमकी भी दी गई। मुझे कहा गया कि, केस से बचाना चाहते हो तो पैसा वापस कर दो वरना तुम्हारे साथ तुम्हारे भाई (कांग्रेस उपाध्यक्ष किशोर उपाध्याय) को भी बदनाम कर देंगें। उक्त व्यक्ति द्वारा 38,000 मीटर में प्लॉट खरीदने के संबंध में नॉट बुक कराये जाने दावा पूरी तरह असत्य है। मुझ पर लगाये गये सभी आरोप बेबुनियाद हैं। यह मुझे किसी षड्यंत्र के तहत जबरन फंसाये जाने की साजिश है। हालंकि इससे पहले भी वह कई मौकों पर कहते आये हैं कि, उन्हें विपक्षी नेता के भाई होने के चलते उनके खिलाफ साजिशें होती रही हैं।

शेयर करें !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *