Saturday, October 24News That Matters
Shadow

कोरोना मरीजों के इलाज करने से बच रहे एमबीबीएस डॉक्टर! आयुष निदेशक ने की ये मांग..

corona
शेयर करें !

देहरादून: उत्तराखंड में करोना के मरीज लगातार बढ़ते जा रहे हैं। मौजूदा वक्त की बात करें तो उत्तराखंड में कोरोना (Corona) मरीजों का आंकड़ा 13,636 तक पहुंच चुका है। जबकि 187 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है। हालाँकि, उत्तराखंड स्वास्थ महकमा दावे कर रहा है कि उत्तराखंड में कोरोना पूरी तरह काबू में है। लेकिन स्वास्थ्य महकमे के काम को देखें तो स्वास्थ्य विभाग में खुद ही अंदर खींचतान चल रही है।

कोरोना मरीज आयुष डाक्टरों के भरोसे

कोरोना (Corona) मरीजों के इलाज और देखभाल में स्वास्थ महकमे ने ज्यादातर आयुष डाक्टरों को लगाया है, जबकि एमबीबीएस डाक्टर सिर्फ सामान्य मरीजों का इलाज कर रहे हैं। इस बात को लेकर आयुष डाक्टर लगातार दबी जुबान से शिकायत कर रहे हैं। उनका कहना है कि, उनसे लगातार डयूटी ली जा रही है जबकि ये काम एमबीबीएस डाक्टरों का है।

निदेशक ने की आयुष डाक्टरों को रिलीव करने की मांग

अब उत्तराखंड आयुष निदेशक ने सचिव स्वास्थ्य से आग्रह किया है कि, लगातार ड्यूटी कर रहे आयुष डाक्टरों को रिलीव किया जाए। क्योंकि एक तरफ आयुष विभाग को आयुष सुरक्षा किट वितरित करने की जो जिम्मेदारी भारत सरकार ने दी है, वो भी पूरी नहीं हो पा रही है।

कोरोना (Corona) काल में जहां डाक्टर कोरोना योद्धाओं के रूप में काम कर रहे हैं, वहीं उत्तराखंड स्वास्थ्य महकमे में एमबीबीएस डाक्टरों पर कोरोना मरीजों के इलाज से पीछे हटने का आरोप लगा रहा है।

लाइव उत्तराखंड से यूट्यूब पर जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें

शेयर करें !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *