Sunday, October 18News That Matters
Shadow

पकड़ा गया सुनार लूट का फरार बदमाश

High court
शेयर करें !

 पटेल नगर पुलिस का शानदार कारनामा

#LIVEUTTARAKHAND NEWS

DEHRADUN CITY..
22 SEPT की रात्रि समय लगभग 20:40 बजे थाना पटेलनगर क्षेत्र ब्लेसिंग फार्म दुर्गा डेरी के पास दो अज्ञात मोटर साइकिल सवार व्यक्ति एक अन्य मोटर साइकिल सवार व्यक्ति (सुनार) को गोली मारकर उसका बैग छीनकर भाग गये ।
घटना के अनावरण हेतु गठित टीमों द्वारा अभियुक्तों के आने व जाने के रूट के सीसीटीवी फुटेज व सर्विलांस के माध्यम से जानकारी करने पर उक्त घटना में चार अभियुक्तों

01: राहुल शर्मा उर्फ राहुल पण्डित
02: नदीम पुत्र मतीन
03: फैजल चौधरी पुत्र मौ0 अनीस तथा
04: नईम पुत्र शराफत के नाम प्रकाश में आये।
अभियुक्त राहुल शर्मा उर्फ राहुल पण्डित तथा नदीम पुत्र मतीन को पुलिस टीम द्वारा दिनांक: 01-10-2020 को DELHI तथा बुलंदशहर से गिरफ्तार किया गया था, अभियोग में वांछित चल रहे अन्य दो अभियुक्तों फैजल चौधरी तथा नईम की तलाश हेतु पुलिस टीम द्वारा लगातार पश्चिमी उत्तर प्रदेश तथा हरियाणा के अलग-अलग सम्भावित स्थानों पर दबिश दी जा रही थी।
पुलिस द्वारा अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु लगातार किये जा रहे प्रयासों के दबाव में अभियुक्त फैजल चौधरी द्वारा दिनाँक :- 08-10-2020 को मुजफ्फरनगर में मा0 न्यायालय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश के समक्ष मुजफ्फरनगर में उसके विरूद्ध पंजीकृत लूट के अभियोग में सरेंडर किया गया।
इसी बीच मुखबिर के माध्यम से पुलिस टीम को सूचना प्राप्त हुई कि अभियुक्त नईम सहारनपुर में ही कहीं छिपा है तथा फैजल चौधरी के मां0 न्यायालय के समक्ष सरेंडर होने की सूचना मिलने के बाद वह भी सहारनपुर कोर्ट में सरेंडर होने की फिराक में है।  मुखबिर की निशानदेही पर 10 October की रात्रि समय लगभग 20: 30 बजे अभियुक्त नईम को सहारनपुर सरकारी अस्पताल चौक के पास से गिरफ्तार किया गया। साथ ही अभियुक्त की निशानदेही पर उसके सेलाकुई स्थित कमरे से घटना में लूटी गई ज्वैलरी बरामद की गयी।

नाम/पता गिरफ्तार अभियुक्त

नईम पुत्र शराफत निवासी: बाजोरिया रोड, घोघरेकी सहारनपुर, उम्र 24 वर्ष

पूर्व में गिरफ्तार अभियुक्तों का विवरण

पूछताछ का विवरण:-

पूछताछ में अभियुक्त नईम ने बताया कि मैं कपडों की फेरी लगाने का काम करता हूं, मेरे पिता सेलाकुई में रहकर पिछले 08 सालों से कबाड का कार्य कर रहे हैं तथा  फैजल से मेरी मुलाकात लाॅकडाउन से पूर्व दिल्ली के करोलबाग इलाके में हुई थी।

मैं पूर्व में लूट व चोरी के मामलों में कैराना व गंगोह से जेल जा चुका हूं। लाक डाउन के दौरान काम बन्द होने से मुझ पर लगभग 4 से 5 लाख रूपये का कर्ज हो गया था तथा मेरे पिता के हार्ट पेशेंट होने के कारण उनके इलाज में भी काफी खर्चा आ रहा था, जिस कारण मेरी आर्थिक स्थिती ठीक नहीं थी तथा मुझे पैसों की सख्त आवश्कता थी। पैसों की आवश्यकता को पूरा करने के लिये मैने लूट की एक योजना बनाई। चूंकि मैं सेलाकुई, प्रेमनगर, बसन्त विहार आदि क्षेत्रो में नियमित रूप से घूमकर कपडों की फेरी लगाने का काम करता था, इसलिये मुझे इस क्षेत्र की अच्छे से जानकारी थी।
लूट की योजना को अमली जामा पहनाने के लिये मेरे द्वारा जीएमएस रोड स्थित एक सुनार की दुकान की रैकी की गयी, मुझे पता था कि उक्त दुकान का मालिक प्रतिदिन अपनी दुुकान बन्द करने के बाद दुकान की सारी ज्वैलरी व नगदी अपने साथ बैग में रखकर अपने घर ले जाता है, यदि उसे लूट लिया जाये तो उसके पास से काफी मात्रा में ज्वैलरी व नगदी मिल सकती है। 08 से 10 दिन तक लगातार रैकी करने के पश्चात मुझे उक्त दुकान के मालिक के आने व जाने के रूट व समय की अच्छी तरह जानकारी हो गयी थी। फैजल ने मुझसे सम्पर्क कर मुझे दिल्ली बुलाया । जहां फैजल ने मेरी मुलाकात राहुल शर्मा उर्फ राहुल पण्डित तथा राहुल के एक अन्य साथी नदीम से करवायी। हम चारों ने राहुल पण्डित के कमरे में बैठकर उक्त लूट की पूरी योजना बनाई तथा योजना के मुताबिक लूट की घटना को करने के लिये दिल्ली आजाद नगर मण्डी के पास से दो मोटर साइकिलों को चोरी किया।

दिनांक: 22-09-2020 को हमने योजना के मुताबिक देहरादून में लूट की घटना को अंजाम दिया तथा उसके पश्चात राहुल और मैं अपनी मोटर साइकिल को प्रेमनगर के पास बिधौली के जंगलों में छोडकर जंगल के रास्ते से पैदल-पैदल सेलाकुई स्थित मेरे कमरे पर पहुंचे, जहां अगली सुबह नदीम और फैजल भी आ गये। मेरे कमरे में लूट का सारा माल आपस में बांटने के बाद राहुल और नदीम उसी दिन वहां से अपने घरों को रवाना हो गये तथा फैजल और मैं सेलाकुई में ही रूक गये। 24 SEPT. को फैजल और मै सेलाकुई से आटो पकडकर पहले हर्बटपुर पहुंचे तथा वहां से टैम्पो पकडकर कुल्हाल चैक पोस्ट से पहले उतर गये। हमारे द्वारा पैदल जा रहे व्यक्तियों के साथ शामिल होकर चैक पोस्ट को पार किया गया तथा उसके पश्चात बस व ट्रक के माध्यम से हम लोग यमुनानगर हरियाणा पहुंचे।

तीन दिन पूर्व फैजल द्वारा मुजफ्फरनगर कोर्ट में सरेंडर करने की जानकारी मिलने के बाद मैं भी कोर्ट में सरेंडर करने की फिराक मे था तथा इस सम्बन्ध में अपने वकील से सम्पर्क करने का प्रयास कर रहा था, इसी बीच दून पुलिस द्वारा मुझे गिरफ्तार कर लिया गया।

01: सोने की अगूंठी: 02
02: कान की बाली सोने की: 02 जोडी

POLICE TEAM:
01: श्री प्रदीप सिंह बिष्ट, प्रभारी निरीक्षक पटेलनगर
02: उ0नि0विवेक भण्डारी, चौकी प्रभारी आई0एस0बी0टी0
03: उ0नि0 अर्जुन सिंह गुंसाई, चौकी प्रभारी धर्मावाला
04: कां0 मनोज कपिल
AND
DEHRADUN SOG

शेयर करें !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *