sunil sharma

लखनऊ में पुलिस मुठभेड़ में मारा गया शातिर बदमाश सुनील शर्मा

लखनऊ : पुलिस की गिरफ्त से पेशी के दौरान करीब एक महीने पहले फरार शातिर अपराधी सुनील शर्मा को पुलिस ने आज तड़के मुठभेड़ में मार गिराया। सुनील शर्मा लखनऊ में सीरियल किलर के नाम से कुख्यात सलीम-सोहराब के लिए काम करता था।

सलीम-सोहराब का शार्प शूटर सुनील शर्मा तड़के पुलिस के जाल में फंस गया। लखनऊ के ही गोमतीनगर विस्तार में पुलिस और सुनील शर्मा के बीच कई राउंड फायरिंग हुई। गोली लगने से घायल बदमाश को पुलिस ने गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया, जहां अस्पताल में उसकी मौत हो गयी।

सुनील शर्मा अमीनाबाद के सभासद पप्पू पांडेय की हत्या का आरोपी है। सुनील जेल से लखनऊ के व्यापारियों से वसूली करता था। करीब एक महीने पहले वह पेशी पर आया था और कोर्ट के बाहर से फरार हो गया था। तभी से पुलिस को उसकी तलाश थी।

लखनऊ में पुलिस को सूचना मिली को सुनील बाइक से इंदिरा नगर के मुंशीपुलिया चौराहे के पास से गुजरा है। इसके बाद पुलिस ने उसका पीछा किया। गोमतीनगर विस्तार में घेर लिया। इसके बाद सुनील ने पुलिस पर दो राउंड फायरिंग कर दी। जवाब में पुलिस ने भी गोलियां चलायी। गोली लगने से घायल सुनील को पुलिस ने अस्पताल भी पहुंचाया।

दुर्दांत अपराधी सुनील शर्मा आठ अगस्त को पेशी के दौरान पुलिस कस्टडी से कोर्ट में पेशी के दौरान भाग गया था। अपराधी का व्यापारियों से वसूली का बड़ा आतंक था। इसके डर से कोर्ट में इसके विरुद्ध मुकदमों में गवाह गवाही देने के लिए नही आ पाते थे।

सुनील शर्मा लखनऊ में सलीम रुस्तम-सोहराब गैंग का यह शार्प शूटर था। सुनील का हत्या जैसा अपराध करना मामूली बात थी।

इस अपराधी पर 15000 रु का इनाम भी घोषित था। सुनील शर्मा ने हाल में कृष्णानगर के व्यापारी अजय रस्तोगी से 20 लाख रुपए की रंगदारी मांगी थी।

इस मामले में एफआइआर दर्ज की गई थी। आज मुठभेड़ में उसका एक साथी मौके से फरार हो गया। उसके पास से दो असलहे बरामद हुए हैं।

मुठभेड़ के बाद मौके पर पहुंचे एडीजी जोन लखनऊ अभय प्रसाद ने बताया कि लखनऊ पुलिस ने आज तड़के सुबह पूर्व पार्षद पप्पू पांडेय के हत्यारोपी और व्यापारियों से रंगदारी वसूलने वाले बदमाश सुनील शर्मा को मुठभेड़ के दौरान मार गिराया है। चिनहट निवासी सुनील शर्मा खूखार अपराधी था। सुनील शर्मा एक महीने पहले ही पेशी के दौरान लखनऊ के वजीरगंज इलाके से फरार हुए था।

उन्होंने बताया कि बदमाश सुनील शर्मा सीरियल किलर भाइयों सलीम, सोहराब और रुस्तम का शार्प शूटर था। बदमाश सुनील ने ही लखनऊ के चर्चित पूर्व पार्षद श्याम नारायण पांडेय उर्फ पप्पू पाण्डेय की हत्या को दिनदहाड़े अमीनाबाद के भीड़भाड़ वाले इलाके में अंजाम दिया था। साथ ही मृतक बदमाश सीरियल किलर भाइयों के इशारे पर व्यापारियों से धन उगाही भी करता था।

एडीजी ने बताया कि लखनऊ पुलिस के गाज़ीपुर थाने के इंस्पेक्टर गिरजाशंकर त्रिपाठी को इस बात की सूचना मिली थी कि बदमाश बाइक से जा रहा है। जिस पर एसओ गोसाईगंज डीके शाही और इंपेक्टर गाज़ीपुर ने अपराधी को पकड़ने के लिए मशक्कत की लेकिन वो भागने लगा। शहीद पथ पकड़ते ही बदमाश सुनील शर्मा गोमती बैराज के रास्ते में मुड़ गया। यहां उसकी बाइक कुछ ही दूर जाते ही फिसल गयी और वो घबराता हुए अपनी पिस्टल से पुलिस के ऊपर फायरिंग करने लगा।

जिसके बाद पुलिस और बदमाश के बीच गोलियां चलने लगीं। बदमाश सुनील के पास दो कंट्री मेड पिस्टल भी मुठभेड़ में पायी गयी हैं। वहीं कई कारतूस घटना स्थल से बरामद हुए हैं। इस दौरान एनकाउंटर की खबर मिलते ही एडीजी जोन अभय प्रसाद मौके पर पहुंचे और टीम को खूंखार अपराधी को मार गिराने की बधाई दी। साथ ही वहां पुलिसकर्मियों की हौसलाअफ़ज़ाई करते हुए उन्हें इनाम देने की भी सिफारिश की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *