Saturday, August 15News That Matters
Shadow

कुमाऊं

उत्तराखंड के इस क्षेत्र में शनिवार और रविवार को पूर्ण लॉकडाउन लागू

उत्तराखंड के इस क्षेत्र में शनिवार और रविवार को पूर्ण लॉकडाउन लागू

उत्तराखंड, कुमाऊं
खटीमा: उत्तराखंड के सबसे अधिक कोरोना प्रभावित चार जिलों देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल और ऊधमसिंह नगर में साप्ताहिक लॉकडाउन में छूट दी गई है। वहीं  अब केवल ऊधमसिंह नगर जिले के खटीमा ब्लॉक में जिला प्रशासन ने दो दिन शनिवार 08 और रविवार  09 अगस्त को पूर्ण रूप से लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया है। जिले के खटीमा को छोड़कर अन्य हिस्से लॉकडाउन से मुक्त रहेंगे। ऊधमसिंह नगर जिले के खटीमा में लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते दो दिन का लॉकडाउन लागू किया गया। इसके लिए स्थानीय लोगों, व्यापारियों और जनप्रतिनिधियों ने भी एहतियातन लॉकडाउन का अनुरोध किया था। बता दें कि, उत्तराखंड में अब तक कुल कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 8,901 तक जा पहुंचा है। इनमे से 5,731 ठीक हो चुके हैं। जबकि, 112 लोगों की मौत हो चुकी है। 38 कोरोना संक्रमित प्रदेश से बाहर जा चुके हैं। अब 3020 संक्रमित हैं, जिनका उपचार किया जा रहा ...
चमोली और पिथौरागढ़ में फिर बरसी आसमानी आफत, घर मलबे में दफन, एक की मौत!

चमोली और पिथौरागढ़ में फिर बरसी आसमानी आफत, घर मलबे में दफन, एक की मौत!

उत्तराखंड, कुमाऊं, गढ़वाल
उत्तराखंड : पिथौरागढ़ जिले में मुनस्यारी और बंगापानी क्षेत्र में मौसम का रौद्र रूप लोगों को डरा रहा है। बंगापानी में कुछ दिन पहले ही पूरा गांव ही दफन हो गया। अब तक 12 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। सोमवार देर रात को फिर से बादलों का कहर बरपा। चमोली में भी सोमवार रात और हुई भारी बारिश ने पूरा गांव की बर्बाद कर दिया। गनीमत रही कि लोगों ने समय रहते अपनी जान बचा ली। यहां कई घर मलबे में दफन हो गए हैं। बीआरओ का पुल टूट गया है। कई घरों में बरसात का पानी घुस गया है। जीबली गांव में एक महिला लापता बताई जा रही है। चमोली जिले में सोमवार तड़के बादलों ने खूब कहर मचाया है। यहां एक महिला की मौत हो गई है और एक बच्ची घायल है। इसके अलावा मवेशियों को भी नुकसान पहुुंचा है। धारचूला मुनस्यारी में बारिश ने तबाही मचाई है। यहां बीआरओ का पुल बह गया है। 100 से अधिक गावों का मुख्यालय से संपर्क कट गया है। जराजीबली, गल...
उत्तराखंड: अलगे 3 दिन इन जिलों पर फिर पड़ सकते भारी, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

उत्तराखंड: अलगे 3 दिन इन जिलों पर फिर पड़ सकते भारी, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

उत्तराखंड, कुमाऊं, गढ़वाल
weather alert uttarakhand..देहरादून: मानसून पूरे उत्तराखंड में कहर बरपा रहा है। मैदानों से लेकर पहाड़ों तक मूसलाधार बारिश ने तांडव मचाया हुआ है। भारी बारिश के चलते कई जगह मार्ग बंद पड़े हैं, तो कई जगहों पर भू-स्ख्लन से तबाही मची है। इससे लोगों को जान माल का काफी नुक्सान हो रहा है। ऐसे में मौसम विभाग ने अगले सात दिन प्रदेशभर में भारी बारिश का अलर्ट जारी कर लोगों की मुश्किलों को बढ़ा दिया है। साथ ही लोगों को सतर्क रहने को कहा है। वहीं ही प्रशासन को भी अलर्ट कर दिया गया है। ये भी पढ़ें: उत्तराखंड: बेरोजगार युवाओं के लिए खुशखबरी, 300 पदों पर मांगे गये आवेदनWeather alert uttarakhand: भू-स्खलन से कई सड़क मार्ग बंद उत्तराखंड में लगातार आसमानी कहर बरस रहा है, जिससे लोगों भारी नुक्सान को उठाना पड़ रहा है। बात पहाड़ों की करें तो यहां जगह-जगह भू-स्ख्लन हो रहा है, जिससे राष्ट्रीय राजमार्ग सहित कई स...
पिथौरागढ़ में फिर बरपा कहर, रात को घर जमींदोज, सुबह ग्रामीणों ने देखा खौफनाक मंजर

पिथौरागढ़ में फिर बरपा कहर, रात को घर जमींदोज, सुबह ग्रामीणों ने देखा खौफनाक मंजर

उत्तराखंड, कुमाऊं
पिथौरागढ़ (Live Uttarakhand): उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार बारिश का कहर बरप रहा है। प्रदेश के सीमान्त जिले पिथौरागढ़ (Pithoragarh) में एक हफ्ते पहले बारिश से हुई भारी तबाही के मंजर से लोग अभी उभरे भी नहीं थे कि, एक बार फिर जिले में बारिश का कहर बरपा है। पिथौरागढ़ (Pithoragarh) जिले में बंगापानी तहसील के धामी गांव के भ्यौला तोक में भूस्खलन से एक घर मलबे में दब गया। इस हादसे में परिवार के दो सदस्य समेत मवेशी भी लापता हैं।रात को घर दफन, सुबह चला पता यह हादसा रविवार रात भारी वर्षा के चलते हुआ। हादसे की जानकारी ग्रामीणों को सुबह मिली। जब गांव वालों ने देखा कि, घर की जगह पर मलबा पसरा हुआ है। इसके बाद ग्रामीण राहत बचाव कार्य में जुटे। साथ ही प्रशासन की टीम भी मौके के लिए रवाना हुए।सुबह मलबे में दबी महिला वहीं पिथौरागढ़ जिले के ही तहसील तेजम ग्राम गोठी में आज सुबह एक महिला नाले ...
Kargil Vijay Diwas: उत्तराखंड के 75 वीर सपूतों ने दी थी शहादत, वीरता पदकों से सम्मानित

Kargil Vijay Diwas: उत्तराखंड के 75 वीर सपूतों ने दी थी शहादत, वीरता पदकों से सम्मानित

उत्तराखंड, कुमाऊं, गढ़वाल
Kargil Vijay Diwas.. देहरादून (Live Uttarakhand): 26 जुलाई यानी आज के दिन हर साल की तरह इस साल भी “कारगिल विजय दिवस” (Kargil Vijay Diwas) मनाया जा रहा है। आज से 21 साल पहले 26 जुलाई 1999 के दिन भारत ने कारगिल युद्ध में पकिस्तान को धूल चटा दी थी। इस युद्ध में देश के लिए जान न्योछावर करने वाले वीर सैनिकों के सम्मान में हर साल इस दिन को शौर्य दिवस (Kargil Vijay Diwas) के रूप में मनाया जाता है। इस युद्ध में देशभर के सैनिकों ने शहादत दी, लेकिन उत्तराखंड के सपूतों के बिना कारगिल की वीरगाथा अधूरी है। उत्तराखंड को वीरों की भूमि यूं ही नहीं कहा जाता। यहां के तो लोकगीतों में भी शूरवीरों की वीर गाथाओं का जिक्र मिलता है। देश पर कुर्बान होने वाले जांबाजों में उत्तराखंड के वीरों का कोई सानी नहीं हैं। आज भी उत्तराखंड के हर युवा का सपना देश की सेना में जाना ही है। यही वजह है कि जब भी जवानों की शहादत को ...